नई दिल्ली: अब भारतीय स्टेट बैंक कराएगा आपके कोरोना का इलाज, सिर्फ 156 रूपये मे मिलेगी 2 लाख की मदद,आइये जानते है प्लान

नई दिल्ली:देश भर में इन दिनों कोरोना तेजी से बढ़ रहा है ऐसे में अगर आप भी कोरोना पीड़ित हैं और इलाज के खर्च को लेकर परेशान हैं तो अब बिल्कुल भी टेंशन न लें, देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक एसबीआई (State Bank of India) आपके कोरोना के खर्च के लिए खास स्कीम लेकर आया है, जिसमें आप सिर्फ 156 रुपये में भी उठा सकते हैं. बता दें बैंक की इस स्कीम का नाम कोरोना रक्षक पॉलिसी है, आइए आपको इसके बारे में डिटेल में बताते हैं।

SBI कोरोना रक्षक पॉलिसी के बारे में जरूरी बातें
“एसबीआई कोरोना रक्षक पॉलिसी एक स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा योजना है,
“भारतीय स्टेट बैंक की कोविड पॉलिसी बिना किसी मेडिकल टेस्ट के जारी होती है.>> यहां आपको 100 फीसदी का कवर मिलेगा।

कोरोना रक्षक पॉलिसी खरीदने की न्यूनतम आयु 18 वर्ष है.
” कोरोना रक्षक पॉलिसी में न्यूनतम प्रीमियम 156 रुपये और अधिकतम 2,230 रुपये का भुगतान किया जा सकता है,
“स्टेट बैंक के कोरोना रक्षक पॉलिसी में 105 दिन, 195 दिन और 285 दिन की अवधि है,
“पॉलिसी में न्यूनतम 50 हजार और अधिकतम दो लाख पचास हजार रुपये का कवर मिलता है”
” 50 हजार रुपये का कवर पाने के लिए 157 रुपये का भुगतान करना होगा,
” ग्राहक कोरोना पॉलिसी के बारे में अधिक जानकारी के लिए 022-27599908 पर मिस्ड कॉल देकर ले सकते हैं,
” एसबीआई कोरोना रक्षक पॉलिसी की मुख्य विशेषता है कि यह सिंगल प्रीमियम रेंज में दी जाती है।

ऑफिशियल लिंक से ले अधिक जानकारी
इस पॉलिसी के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इस लिंक
https://www.sbilife.co.in/en/individual-life-insurance/traditional/corona-rakshak पर विजिट कर सकते हैं।

24 घंटे में आए 1.84 लाख मामले
देश में एक तरफ जहां कोरोना मरीजों का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है. वहीं, कोविड (Covid-19) के कारण मौतों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है. भारत में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना के 1.84 लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं, जबकि 1000 से अधिक लोगों की मौत हुई है. भारत में कोरोना के एक्टिव मामले अब 13 लाख के पार पहुंच गए हैं. बता दें कि पिछले कुछ दिनों से देश में लगातार प्रतिदिन डेढ़ लाख से अधिक कोरोना के पॉजिटिव केस आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *