मध्यप्रदेश सतना बहुचर्चित रेप केस:लव जिहाद कानून का आधार बनने वाली पीड़िता की रहस्यमयी मौत, परिवार ने गुपचुप तरीके से किया अंतिम संस्कार

मध्यप्रदेश:-सतना में लव जिहाद कानून का आधार बनने वाली पीड़िता की संदिग्ध तरीके से मौत हो गई, जो एक साथ कई सारे सवाल खड़े कर गई. बताया जा रहा है कि पीड़िता की मौत 4 मई को हो चुकी थी, लेकिन सोशल मीडिया में इसकी खबर मंगलवार को इसकी आई, तब जाकर मामला सामने आया।

इस तरह से हुई संदिग्ध मौत
परिजनों के मुताबिक 25 अप्रैल को पीड़िता अपनी सहेली के साथ दिल्ली गई थी।

28 अप्रैल को दिल्ली से लौटने के बाद पीड़िता की तबियत खराब हुई. 4 मई की शाम उसे सांस लेने में दिक्कत हुई, और अचानक दम तोड़ दिया. परिजनों ने यह भी बताया कि दिल्ली जाने पर उसके मोबाइल पर भी घर वालों का संपर्क नहीं हो पा रहा था।

गुपचुप तरीके से अंतिम संस्कार
4 मई को पीड़िता की घर में ही संदिग्ध मौत होने के बाद परिवार वालों ने सतना में अंतिम संस्कार न करते हुए,रीवा जिले में उनके पैतृक गांव में ही अंतिम संस्कार कर दिया. पीड़िता का अंतिम संस्कार करने के बाद परिवार 18 मई को वापस सतना आ गया था. तब जाकर लोगों को पीड़िता की मौत का पता चला।

परिवार को मिल रही थी धमकी
इसके पूर्व में पीड़िता के पिता ने आरोपी सिकंदर के कांग्रेसी पार्षद भाई मो. रईस पर राजीनामा करने का दबाव बनाने और केस वापस न लेने पर पूरे परिवार को जान से मार देने की धमकी देने का आरोप लगाया था।

आरोपी सिकंदर की हुई 25 अप्रैल को जमानत
जानकारी के मुताबिक दुष्कर्म का आरोपी सिकंदर उर्फ समीर उर्फ अतीक अहमद 25 अप्रैल को ही जमानत पर बाहर आ चुका था. आरोपी सिकंदर ने पीड़िता को हिंदू नाम अपने जाल में फंसाया और उसके दुष्कर्म के साथ साथ सूदखोरी और अश्लील वीडियो क्लिप्स के कारोबार से जुड़े कई राज भी फाश हुए थे।

इन धाराओं के तहत दर्ज हुआ था मामला
सतना पुलिस ने सिकंदर मंसूरी के फॉर्म हाउस से कैमरे, कम्प्यूटर, डीवीआर और सहित कई दस्तावेज जब्त किये थे. दस्तावेजों के आधार पर पुलिस ने उसके खिलाफ 376 (2i), 376 (2n), 323, 506 भादवि, 5/6 पॉक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है.

नाबालिग ने ही की थी शिकायत
पुलिस अधीक्षक के मुताबिक पीड़ित नाबालिग ने ही बताया था कि आरोपी सिकंदर फेसबुक पर समीर बनकर उससे दोस्ती किया था. उसके कुछ दिन बाद अपने फॉर्म हाउस पर बुलाकर नशीली दवा खिलाकर दुष्कर्म किया और वीडियो भी बना लिया. जब पीड़ित नाबालिग ने उस पर वीडियो डिलीट करने का दबाव बनाया तो वह वीडियो वायरल करने की धमकी देता था. जिसके बाद नाबालिग ने पुलिस में शिकायत की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *