भिलाई- 3: नगर में सट्टा का कारोबार शबाब पर,बेखौफ है खाईवाल,कार्रवाई के नाम पर ठेंगा

भिलाई 3: महामाया मछली मार्केट से लेकर नगर पालिका के पीछे नवनिर्माणाधीन भवन में धड़ल्ले से सट्टे का कारोबार किया जा रहा है। भिलाई -3 थाना क्षेत्र में इस खेल के बढ़ते कारोबार का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि दुकानदार भी दिन-रात अंकों के जाल में उलझे रहते हैं। प्रमुख खाईवाल के एजेंट जो पट्टी काटते हैं प्रायः हर गली-मोहल्ले में आसानी से पट्टी काटते नजर आते हैं। क्षेत्र में खुलेआम पट्टी काटकर और मोबाइल के माध्यम से भी उक्त अवैध कारोबार को संचालित कर लोगों की गाढ़ी कमाई पर डाका डाल रहे हैं। जिसकी जानकारी शायद पुलिस को छोड़कर सभी को है। सट्टे के हिसाब-किताब की जगह बार-बार बदल कर प्रमुख खाईवाल अपनी होशियारी का भी परिचय देने की कोशिश करते हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार साहू नाम का सट्रोरिया इस पूरे खेल को बड़ी आसानी से अंजाम दे रहा सूत्र बताते है युवक आदतन अपराधी है इस की पहुंच और रसूख की वजह से इस पर कोई कार्यवाही नहीं होती ये धीरे धीरे पूरे भिलाई-3 क्षेत्र में अपना पैर पसार चूका है।

पुलिस के नाक के नीचे चल रहा बड़ा खेल पुलिस बेखबर?


पुलिस की नाक के नीचे चल रहा सट्टा-शहर की हर गली, हर मोड़ पर सट्टे का कारोबार चल रहा है। कहीं सीधे तौर पर सट्टे की पर्ची ही खिलाई जाती है तो कहीं ओपन क्लोज पर। ज्यादातर अड्डों पर लाटरी की आड़ में सट्टा खिलाने वाले अब सीधा नंबर निकालते हैं और खेलने वालों को देते हैं। यह सब पुलिस की नाक के नीचे से धड़ल्ले से हो रहा है। सट्टा खिलाने वाले रोजाना लाखों रुपये सरकार को चूना लगा कर कमा रहे हैं।


स्कूली छात्र भी खेल रहे जुआ-सट्टा


जुआ खेलने में स्कूली विद्यार्थी भी पीछे नहीं है। स्कूलों पहुंचकर वहीं अपना बस्ता रखकर कई विद्यार्थी वहां से फरार हो जाते हैं और पहुंचते हैं इसके अड्डों पर। स्थिति इस कदर बिगड़ रही है कि बच्चे घर से किताब-कापियां खरीदने के लिए पैसे लाते हैं और उसे जुए में उड़ा देते हैं। बचपन में जुआ खेलने की बुरी लत पडऩे से उनके भविष्य भी खराब हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *