बेमेतरा:अघोषित बिजली कटौती एवं बिजली विभाग में कर्मचारियों की भर्ती की मांग को लेकर, 25 बिजली ऑफिस में नंगाड़ा और टीन बजाकर किया प्रदर्शन

बेमेतरा: सभापति राहुल टिकरिहा के नेतृत्व में जिला के 25 बिजली ऑफिस में हल्लाबोल,जलाए गए घोषणा पत्र व भारी-भरकम बिजली बिल की प्रतियाँ। बेमेतरा जिला में लगातार हो रहे अघोषित बिजली कटौती और बिजली विभाग में कर्मचारियों की भर्ती को लेकर बेमेतरा जिला के 25 बिजली विभाग में एक साथ प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम से ज्ञापन सौंपा गया। तय योजना के मुताबिक पहले 21 बिजली ऑफिस में ज्ञापन सौंपना था, जैसे ही प्रदर्शन की गूंज जिला में फैला तो 4 और स्थान जुड़ गए है। जिससे जिलें के 25 बिजली ऑफिस में छत्तीसगढ़ काँग्रेस सरकार और बिजली विभाग को जगाने के लिए नंगाड़ा और टीपा बजाकर प्रदर्शन कर मांगो को लेकर ज्ञापन सौंपा गया।जिला पंचायत सभापति राहुल योगराज टिकरिहा ने स्वयं जाकर और उनके बहुत से जगहों पर उनके निर्देशन में ग्रामीणों एवं आम नागरिकों ने बीजली ऑफिस में एक साथ हल्ला बोलकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद बिजली विभाग से संबंधित 5 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को ज्ञापन सौंपा गया।जिला पंचायत सभापति राहुल योगराज टिकरिहा ने बताया कि बेमेतरा जिला में लगातार बिजली कटौती हो रही है जिससे किसान सहित आम नागरिक परेशान है। इस समस्या से निजात दिलाने के लिए अनेक बार शांतिपूर्ण ढंग से मांग की गई। लेकिन उक्त मांगो पर सरकार और विभाग द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया गया। इसलिए हमने बेमेतरा जिला के 25 बिजली ऑफिस में नंगाड़ा और टीपा बजाकर प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम से ज्ञापन सौंपा।प्रदर्शन में प्रमुख रूप से हीरालाल साहू, रोशन वर्मा, ओंकार साहू, संदीप यादव, मोनू पाल, पवन साहू, मनीष देवांगन, रोशन टिकरिहा, हिरावन साहू, धर्मेंद्र साहू, किशन साहू, चतुर साहू, साकेत साहू, राजू महाराज, नरेंद्र परगनिहा, यशवंत वर्मा, रज्जू साहू, फगुराम साहू, आकाश साहू, महेश कौशल, हर्ष राजपूत, पुनीत वर्मा, सिब्बू वर्मा, लोमेश सेन, नारद यादव, राजेश पाल, गजानंद साहू, करन साहू, तुकाराम परगनिहा, चन्द्रदेव वर्मा, डमरू वर्मा, चंद्रकांत साहू, तिरिथ साहू, सूशील साहू, कोमल परगनिहा, आजाद मलिक, विपिन यादव, अमृत लाल, नारायण वर्मा, जनक वर्मा, दिनेश कुमार, संतोष कुमार, चतुर साहू, उमेश साहू ,पेखन साहू, दीनदयाल साहू दामोदर ,अमित साहू ,महेंद्र , खड़ानाद साहू , मोनू वर्मा ,खूबी साहू, करीम खान, सोनल साहू , मंजीत , खुलेश्वर् पाठक, रोमित , भूपेंद्र, रमेश ,कोमल कौशल, ऋषि पात्रे, टोमेश्वर साहू, अश्वन निषाद, रामायण साहू, राजू निर्मलकर, कुलेश साहू, लोकेश साहू, नारद यादव, रोहित यादव, गगन साहू, वेदप्रकाश साहू, भोजराम निषाद, पोखराज साहू, लीलाधर साहू, बलराम यादव, मनीष सेन, गिरधारी साहू, रितेश राजपूत, सालिक साहू, भुनेश्वर साहू, राजेश साहू, खुमान साहू, ईश्वरी वर्मा, रोहन टिकरिहा, हिरावन साहू, संजू टिकरिहा, राजेश वर्मा, चंद्रहास वर्मा, अमर साहू, देवानंद नायक, नारायण वर्मा, रविकांत टिकरिहा, देवदत्त साहू, चंदन टिकरिहा, नारायण वर्मा कुम्हि, रामकुमार वर्मा, भुपेश टिकरिहा, बंशी, देरहु सिन्हा, धीरज सिन्हा, किशोर मार्कण्डेय,चुरावन साहू, तीजे लाल, तोरन साहू, लक्ष्मीकांत वर्मा, राकेश पाल, दुर्गेश वर्मा, अजय निषाद, डोमेश्वर, गोरेलाल परगनिहा, पंकज वर्मा, फगुराम साहू, आकाश साहू, सालिक साहू, भुनेश्वर साहू, राजेश साहू, खुमान साहू, जनाक जंघेल, राजेंद्र ठाकुर ,मधु राजपूत,सतीश जैन,राजेश देवांगन ,नारद वर्मा, दिनेश साहू, धर्मेन्द्र दिवाकर, राजू कोशल, उमेश सिन्हा ,मोहित डहरवाल, किशन ,गोलू ,शुभम्, संतु, योगी ,मंतराम, रामसहाय, चैतू ,रामनारायण, रामू संजय ,प्रदीप, दिलेश्वर, संतराम, खिलेश्वर, निर्मला निषाद, नंदकुमार, गुलाबचंद ,खुमान साहू ईश्वर साहू ,अजय सतनामी, रामप्रसाद, रोहित, रामकृपा, यशवंत देवांगन, योगेश साहू, बोधन साहू, अश्विन निषाद, हीरा साहू, मोहित साहू ,टहल साहू, दीनदयाल साहू अन्य किसान व ग्रामीण उपस्थित रहे।
अघोषित बिजली कटौती को पूर्णता:बंद करने की मांग-धान बुआई का दिन अब चालू हो गया है। जिला के किसानों को रोपाई और मताई के लिए खेतो में पानी की नितांत आवश्यकता रहेगी। लेकिन जिलें में अटल ज्योति द्वारा प्राप्त बिजली में 5 से 6 घंटा कटौती होने से व कई बार कटौती के साथ-साथ 8 से 10 घण्टा तक बिजली बंद रहती है जिससे किसानों की बीच बिजली की समस्या उत्पन्न हो जाती है। किसानों और आम नागरिकों को बुआई और खेतों को पानी की कमी न हो इसके लिए कटौती को बंद किया जाए।
भारी-भरकम बिजली बिल को माफ करने की रखी माँग-राहुल ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि घोषणा अनुसार बिजली बिल हाफ की बात की गई थी। किन्तु अब हालात तो और खराब हो चुके है और लोगों को ऐसे बिल थमाए जा रहे जैसे उनके घरों पर कोई प्लांट संचालित हो।बिजली विभाग में कर्मचारियों की भर्ती व कमर्चारियों की नियमतिकरण की मांग-बारिश में हवा तूफान के कारण कई बार तार या खंबा टूट जाता है साथ ही शॉट सर्किट की संभावना भी बढ़ जाती है। बेमेतरा जिला के बिजली विभाग में शिकायत करने पर समाधन त्वरित उपलब्ध नहीं हो पाता। जिसका प्रमुख कारण कर्मचारियों की कमी बताई जाती है। राज्य निर्माण के बाद से यहां बिजली विभाग में भर्ती नहीं हुआ है।बिजली विभाग में कर्मचारियों की भर्ती व विभाग में कार्यरत संविदा कर्मचारियों की नियमतिकरण व तय समय सीमा में वेतन देने की की मांग की गई।
सभी गांवों में व आवश्यकता अनुरूप एबी स्विच लगाने की मांग-एक गॉव में शॉट सर्किट होने से संबंधित पूरे क्षेत्र का लाइट बंद हो जाता है। शार्ट सर्किट को ढूंढने के लिए कर्मचारियों को बहुत भटकना पड़ता है और लंबे अन्तराल तक लाइट बंद होने से ग्रामीणों व किसानों को भी समस्या होती है। अतः शार्ट सर्किट समस्या का सामना नागरिकों और विभाग दोनों को करना पड़ता है। इस समस्या के समाधान के लिए सभी व आवश्यक स्थानों पर एबी स्विच लगाया जाए। जिससे शार्ट सर्किट होने पर संबंधित क्षेत्र का ही लाइट बंद हो।बेमेतरा जिला के इन बिजली ऑफिस में नंगाड़ा और टीपा बजाकर किया प्रदर्शन- भिंभौरी, सरदा, रांका, बेरला, देवरबीजा, झाल, , डिवीजन ऑफिस बेमेतरा, नेवनारा, तारालिम, बारगांव, गोंड़गिरी, नवागढ़, कोदवा, डुंडा, खिसोरा,अमोरा, मटका, बहेरा, सोंढ, पड़पोड़ी,आंनदगाँव,नांदघाट, बाबामोहतरा,दाढ़ी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *