दुर्ग: जिले के नए पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने किया पदभार ग्रहण,पूर्व में कोंडागाँव,बीजापुर और बलौदाबाजार,राजनांदगांव जिले में पुलिस अधीक्षक के तौर पर रहें पदस्थ

दुर्ग: जिले के नए पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने पुलिस अधीक्षक दुर्ग का पदभार सोमवार, 05 जुलाई को विधिवत् पुलिस अधीक्षक का कार्यभार ग्रहण किया। कार्यभार ग्रहण करने के उपरान्त नवपदस्थ पुलिस अधीक्षक दुर्ग ने जिले के समस्त राजपत्रित अधिकारियों से परिचय प्राप्त कर उनके अधिनस्थ थाना-चौकियों की जानकारी लेते हुए क्षेत्र की गतिविधियों की भी जानकारी प्राप्त की।

प्रशान्त अग्रवाल इसके पूर्व पुलिस अधीक्षक बिलासपुर के पद पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। प्रशांत अग्रवाल मूलतः भारतीय पुलिस सेवा के वर्ष 2008 बैच के अधिकारी हैं। इसके पूर्व वे कोंडागाँव, बीजापुर और बलौदाबाजार, राजनांदगांव जिले में पुलिस अधीक्षक के तौर पर पदस्थ रहें हैं।

पदग्रहण के पश्चात कोविड 19 के दिशा निर्देशों का ध्यान में रखते हुए जिले के समस्त राजपत्रित अधिकारीगणों एवं थाना प्रभारियों का बैठक लेकर समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश एवं मार्गदर्शन दिये l
पुलिस अधीक्षक द्वारा जिले की पुलिस ईकाई की संरचना की जानकारी लेकर चर्चा की गई। पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा सभी अधिकारियों/कर्मचारियों को

बेसिक पुलिसिंग को इम्प्रूव करने पर फ़ोकस, क्राइम प्रिवेन्शन पर ज़ोर

•थाना प्रभारी जुआ सट्टा नशे के अवैध कारोबार जैसी सामाजिक बुराइयों और अवैध गतिविधियों पर लगाम लगाने, युवाओं को नशे और अपराध की तरफ़ से जाने से रोकने का हर सम्भव प्रयास करें

•ऐसी गतिविधियों में पुलिसवालों का इन्वॉल्व्मेंट बर्दाश्त नहीं होगा

•सभी पुलिस अधिकारी टीमवर्क
की भावना से काम करें

•कामों में चुस्ती लाएँ. सक्रिय रहें. घटनाओं में स्लो रेस्पॉन्स वाले सुस्त अधिकारियों के लिए जगह नहीं।

•फ़रियादीयो कि साथ अच्छा व्यवहार हो, घटनाओं और कंप्लेंट्स में फ़र्स्ट रेस्पॉन्स इम्प्रूव करें।

महिलाओं एवं बच्चों के विरुद्ध अपराधों में अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी सुनिश्चित करें, विवेचना पूर्ण कर चालान माननीय न्यायालय में पेश किए जाने हेतु निर्देशित किया गया।

•पुलिस के वर्क कल्चर इम्प्रूव करने और कार्यों में और प्रोफेशनलिज्म लाने का प्रयास रहेगा।

• ट्रैफ़िक की समस्या के सम्बंध में पूर्व के अधिकारियों ने भी इस विषय पर काम किया है, उनके अच्छे प्लान को आगे बढ़ाएँगे, और समस्याओं का रिव्यू करते हुए सभी स्टोकहोल्डर से मिलकर ट्रैफ़िक को स्मूथ रखने का प्रयास करेंगे।
• मुख्यमंत्रीऔर गृहमंत्री के द्वारा चिट फंड प्रकरणों में रक़म वापसी की प्रक्रिया के निर्देश दिए हैं, इन प्रकरणों की रेगुलर समीक्षा कर इस प्रक्रिया में और गति लायी जाएगी।
•पुलिस थानों और शाखाओं के कार्यों की समीक्षा की जाएगी. ज़िले की समस्याओं को समझ कर प्राथमिकताएँ तय की जाएँगी।


•चोरी, नक़ब्ज़नी, महिला सम्बन्धी अपराध, साइबर अपराध जैसे अपराधों में कमी लाने के लिए कम्युनिटी के साथ मिलकर काम करेंगे।

इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, शहर संजय ध्रुव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अनंत कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात कवीलाश टंडन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला,आकाश राव गिरेपुंजे, सीएसपी छावनी विश्वास चंद्राकर, सीएसपी भिलाई नगर राकेश जोशी,उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय अभिषेक झा, उप पुलिस अधीक्षक यातायात गुरजीत सिंह, उप पुलिस अधीक्षक निशांत पाठक सहित थाना प्रभारीगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *