धर्म संसद: गोडसे वाले बयान पर आया मुख्यमंत्री भूपेश का बयान कहा- समाज में जहर घोलने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

रायपुर: राजधानी के रावणभाटा मैदान में रविवार शाम दो दिवसीय धर्म संसद के अंतिम दिन हिंदू धर्म गुरु कालीचरण महाराज ने अपने भाषण के दौरान राष्ट्रपिता के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी की थी और उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे की प्रशांसा की थी। इस दौरान कालीचरण महाराज ने लोगों से कथित तौर पर कहा था कि धर्म की रक्षा के लिए कट्टर हिंदू नेता को सरकार के मुखिया के तौर पर चुनना चाहिए। कालीचरण ने कहा था इस्लाम का लक्ष्य राजनीति के जरिए राष्ट्र पर कब्जा करना है। उन्होंने आगे कहते हुए कहा की हमारी आंखों के सामने उन्होंने 1947 में कब्जा कर लिया था। उन्होंने पहले ईरान इराक और अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया। उसके बाद उन्होंने राजनीति के द्वारा बांग्लादेश और पाकिस्तान पर कब्जा किया-मैं नाथूराम गोडसे को नमस्कार करता हूं कि उन्होंने गांधी की हत्या की।

जिस पर सीएम भूपेश बघेल ने रायपुर के स्वामी विवेकानंद विमानतल पर पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा इस मामले में विधि सम्मत कार्रवाई होगी। चाहे वह कोई भी व्यक्ति हो उन्होंने कहा कोई भी व्यक्ति यदि इस तरह से बातें करेगा समाज में उत्तेजना फैलाने की कोशिश करेगा और यदि समाज में जहर घोलने की कोशिश करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

“CM ने ट्वीट कर दी चेतावनी”
मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया “बाबू को गाली देकर समाज में विष वमन करके यदि किसी पाखंडी को लगता है कि वह अपने मंसूबों में कामयाब हो जाएगा, तो वो उनका भ्रम है। उनके दोनों आका भी सुन ले, भारत और सनातन संस्कृति दोनों की आत्मा पर चोट करने की जो भी कोशिश करेगा न संविधान उसे बख्शेगा ना जनता उन्हें स्वीकार करेगी

पुलिस ने विभिन्न धाराओं में दर्ज किया FIR
रायपुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कालीचरण महाराज के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 505 (2) विभिन्न वर्गों के बीच में शत्रुता घृणा या द्वेष पैदा करने या बढ़ावा देने वाले बयान, तथा 294 अश्लील कृत्य के तहत मामला दर्ज किया गया है जिले के पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि इस प्रकरण में प्राथमिकी दर्ज हो गई है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही हैं, और वहां उपस्थित लोगों का बयान लिया जा रहा है जो तथ्य सामने आएंगे उस हिसाब से कार्रवाई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *